Placeholder canvas

Bihar Caste Census Released: बिहार में जातिगत सर्वे के आंकड़े हुए जारी, जानें आंकड़ों का खुलासा

rakeshgusaiana
2 Min Read

Bihar Caste Census Released: बिहार की राजधानी पटना से एक महत्वपूर्ण समाचार आया है – बिहार में जातिगत सर्वे के आंकड़े जारी कर दिए गए हैं। इस सर्वे के अनुसार, बिहार में विभिन्न जातियों की आबादी का खुलासा किया गया है, जिससे समाज के सांचे में रहने वाले व्यक्तियों के लिए महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है।

बिहार के मुख्य सचिव ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बिहार जाति आधारित गणना 2022 की पुस्तिका का विमोचन किया, और इसके माध्यम से बिहार की जातिगत गणना के आंकड़े सार्वजनिक कर दिए गए हैं।

जातिगत आंकड़े

जाति आबादी (%)
राजपूत 3.45
यादव 14
भूमिहार 2.86
ब्राह्मण 3.65
नौनिया 1.9

इस सर्वे के आंकड़ों के आधार पर ज्ञात हुआ कि बिहार में यादवों की आबादी सबसे अधिक है, जो लगभग 14% है। उन्हें भूमिहार, ब्राह्मण, और राजपूत जैसी जातियों की आबादी फॉलो करती है।

बिहार की जनसंख्या

इसके अलावा, बिहार की कुल आबादी 13,07,25,310 है, जिसमें पिछड़ा वर्ग 3,54,63,936, अत्यंत पिछड़ा वर्ग 4,70,80,514, अनुसूचित जाति 2,56,89,820, अनुसूचित जनजाति 21,99,361, और अनारक्षित 2,02,91,679 लोग हैं।

धर्मिक आबादी

बिहार सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, बिहार में धर्म के आधार पर विभाजित आबादी का भी विमोचन किया गया है। बिहार में आबादी के 82% हिन्दू हैं, 17.7% मुसलमान हैं, और छोटे से हिस्से में ईसाई (0.05%), बौद्ध (0.08%), और अन्य धर्मों के अनुयायी (0.0016%) भी हैं।

इस सर्वे से बिहार की जनसंख्या और जातिगत आबादी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है, जो समाज के विकास और योजनाओं के लिए महत्वपूर्ण हो सकती है। इन आंकड़ों के प्रकाश में, समाज के विभिन्न पहलुओं को समझने और सुधारने का माध्यम मिलता है, ताकि सभी नागरिकों को समान अवसर मिल सके।

Read More
भारत में बनने जा रहा है एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट, मिलेंगी ये आधुनिक सुविधाएँ
Share This Article
Leave a comment